Blog kya hai | Blogging kaise kare best तरीका

Blog kaise banaye what is blogging in hindi Blog kya hai | Blogging kaise kare आज जानेंगे आसान तरीके से.

 

अगर आप blogging सीखना चाहते हो और ये जानना चाहते है की blog kya hai – blog kaise banaye – blogging करने का सही तरीका क्या है और blogging से पैसे कैसे कमाए जाते है तो आप बिलकुल सही जगह पर आए हो.

बहुत से लोग ऐसे होते है जो blog kya hai के बारे ठीक से जाने बिना ही गलत तरीके से blog बना लेते है और कुछ लोग ऐसे होते है जिन्हे blogging करने का सही तरीका बिलकुल नही पता होता,  जिस वजह से सालो मेहनत करने पर भी बेहतर रिजल्ट नही मिल पाता.

नमस्कार दोस्तों मैं हरजीत मौर्या स्वागत करता हूं आपका ब्लॉगिंग की इस अद्भुत दुनियां मे. मैं पिछले 10 साल से ब्लॉगिंग के करियर मे हूं. और अब तक हज़ारो लोगो को online और offline तरीके से ब्लॉगिंग करना सिखा चुका हूं अब आपकी बारी है.

करोड़ो लोग अभी भारत में इस बात से अंजान है की blog kya hai? blogging kaise ki jati hai?

अगर blogging मे सफल होना है तो इसे आपको एक startup की तरह शुरू करना होगा. इसी बात को ध्यान मे रख कर हमने free blogging course शुरू किया.

Free blogging course hindi-  जरूर पढे 

ब्लॉगिंग करने वालो की संख्या दिन पर दिन तेजी से बढ़ती जा रही है. सिर्फ यही नहीं हज़ारो लोग ऐसे है जो बड़ी बड़ी कम्पनियो की अच्छी खासी job को छोड़ कर ब्लॉगिंग करियर की तरफ आरहे है.आखिर ऐसा क्यों , क्योंकि वो वो लोग समझ चुके है की ब्लॉगिंग मे कितनी ताकत है.

आप नीचे इस वीडियो को play करके real example देख सकते हो की कैसे एक बंदा जो TCS जैसी कम्पनी मे लाखों की job छोड़ कर blogging करने लगा.

;

ऐसी ही और भी कई उदाहरने है.

मुझे ये पोस्ट लिखने की जरूरत क्यों पड़ी? 

दोस्तों ज़ब मैंने youtube और google पर ये देखा की जादातर लोग ऐसे है जिन्हे खुद कोई अच्छी जानकारी नहीं है और वो लोगो को गलत और अधूरी जानकारी देकर  गुमराह किये जा रहे है. 

जिसका नतीजा ये होता है की लोग उसी अधूरी और गलत जानकारी के बेस पर ब्लॉगिंग की शुरुआत कर तो देते है लेकिन खूब मेहनत के बावजूद भी वो सफल नहीं हो पाते. सालों तक ब्लॉगिंग करते है फिर भी अच्छी इनकम नहीं कमा पाते.

तो इन्ही बातों को ध्यान मे रख कर हमने अपने इस blog पर free blogging course hindi कि शुरुआत कि है  ताकी आप लोगो तक blogging की सही और सम्पूर्ण जानकारी पहुंच सकें और हर कोई आसानी से blogging सीख कर अपने करियर का निर्माण कर सके.

यह post हमारे free blogging course hindi का पहला पार्ट है.

 

आज इस आर्टिकल के माध्यम से मैं blogging की बेसिक से लेकर एडवांस जानकारी देने जा रहा हूं. 

Blog

तो चलिए सबसे जानते है –

blogging क्या होती है ?

Blogging एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे एक blog बना कर उसमे अपनी जानकारी को आर्टिकल के रूप मे लिख कर publish किया जाता है. Blogging करने के लिए एक प्लेटफार्म की आवश्यकता पड़ती hai जिसका नाम है blog.

 

Blog क्या होता है? 

Blog एक प्लेटफॉर्म होता है, जिसपर कोई भी इंसान अपनी information या निजी तजुर्बे को या विचारों को text, video और image के साथ दुनियाभर के लोगो के सामने प्रकाशित कर सकता है.

Blog पर article कैसे लिखा जाता है– जरूर पढे 

यानी blog इंसान को google से जोड़ने का एक माध्यम है जिसमे इंसान अपनी जानकारी को दुनियाभर के लोगो के सामने free मे प्रकाशित कर सकता है.

 

Blog के माध्यम से अपनी जानकारी को हिन्दी, english या किसी अपनी मातृ भाषा मे लिख कर publish करना “कन्टेट” – “लेख”  – “आर्टिकल” एवं “blog post”  कहलाता है. 

 

जो इन लेख (आर्टिकल) को लिखकर blog पर publish करता है वो “कंटेंट राइटर,ब्लॉगर, एवं लेखक”  के नाम से जाना जाता है.

 

आपके द्वारा publish किये गए कंटेंट ज़ब गूगल पर rank होने लगते है तो वो blog post search इंजन पर दिखने लगते है. फिर लोग गूगल के माध्यम से आपके blog तक पहुँचते है और आपके द्वारा लिखें गए कन्टेट को पढ़ते है.

 

इस तरह, blog पर आने वाले लोग “यूजर, विजिटर” ,के नाम से जाने जाते है.

 

यदि रियल टाइम के अंदर आपके blog पर विजिटर मौजूद है तो उसको ट्रेफिक कहा जाता है. 

 

Blog कितनी प्रकार के होते है? Types of blog 

मंच,विषय, और मार्केटिंग (platform,subject & marketing) के आधार पर blog दो प्रकार के होते है.

पहले समझते है मंच के आधार पर.

  • मंच के आधार पर blog दो प्रकार के होते है. यानी 
  • Blogging करने के दो मंच होते है? Types of blog 

वर्तमान समय मे blogging करने के 2 मंच उपलब्ध है . पहला है google blog जिसे blogger कहा जाता है, दूसरा है,wordpress blog.

 “blogger”   google का एक digital product है.

यह google कि तरफ से दी जाने वाली एक ऐसी free blog सर्विस है, जहाँ पर लोग free मे अपना blog बना कर कन्टेट लिखकर publish (प्रकाशित) करते है. यहां पर कोई पैसा नहीं देना पड़ता.

वहीं दूसरी तरफ, wordpress एक प्रोफेनल blog होता है. यानी यहां पर blogging करने के लिए आपको कुछ धनराशी देनी पड़ती है.

यह थोड़ा सा खरचीला जरूर होता है, लेकिन इस मंच पर आपको बहुत एडवांस फीचर्स मिल जाते है जिससे आप अपने blog को blogger के मुकाबले जल्दी rank करवा के पैसे कमा सकते है. ज़ादातर लोग wordpress पर ही blogging कर रहे है.

इस तरह वर्तमान  समय मे इन्ही दो तरह के ही blogging मंच पर blogging कि जा रही है.

सब्जेक्ट यानी निच के आधार पर भी blog दो प्रकार के  होते है.

  1. सिंगल निच blog
  2. मल्टी निच blog

Niche का अर्थ है विषय जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है, “सिंगल niche blog” का अर्थ होता है किसी एक विशेष के आधार पर blog बनाना. उदाहरण के तौर पर, health blog,  इस blog पर सिर्फ health से सम्बंधित हर तरह कि जानकारी publish कि जाएगी. इसीलिए इस तरह के blog को सिंगल निच blog कहा जाता है.single Niche blog को micro niche blog भी कहा जाता है.

 

Micro Niche blog किसे कहते है?

Single niche blog के अंदर किसी एक पार्टिकुलर टॉपिक के ऊपर blog बनाना, इसे ही micro niche blog कहा जाता है.

जैसे health में सिर्फ दवाइयों के ऊपर blog creat करना फिर सिर्फ दवाइयों से जुड़ी या सिर्फ एक तरह की दवाई या एक ही बीमारी की दवाई से जुड़ी post publish करना.

ठीक वैसे ही मल्टी निच blog वह होता है ज़ब हम एक से अधिक विषय वाला blog बनाते है. जैसे एक ही blog मे health, टेक्निकल, एजुकेशन, मोटिवेशन, सरकारी योजनाओं, क़ृषि जानकारी जैसे तमाम तरह के अलग अलग विषयो पर जानकारी देना.

अब सवाल ये उठता है कि, 

किस blog niche पर काम करना ज़ादा सही रहेगा?

वर्तमान समय मे लोग “मल्टी निच blog” के मुकाबले “सिंगल निच blog” को अधिक प्राथमिकता दे रहे है क्योंकि सिंगल निच blog पर सफलता पाना ज़ादा आसान है दूसरी बात इस पर मल्टी निच blog के मुकाबले बहुत कम मेहनत कि अश्यकता होती है.

यानी कम सिंगल निच blog पर कम एफर्ट से बेहतर रिजल्ट प्राप्त किये जा सकते है.

Marketing के आधार पर भी दो प्रकार के blog बनाए जाते है. इन्हे एफिलेट blog  के नाम से जाना जाता है.

यह एफिलेट मार्किटिंग के जैसा है एफिलेट वह होती है ज़ब हम online shoping वेबसाईट जैसे amazon, flipkart, shopclues पर एफिलेट मेम्बरशिप ज्वाइन करके वहाँ से किसी भी products को अपने blog के माध्यम से बेचना. एफिलेट मेंबर होने कि वजह से हमें हर products पर एफिलेट link मिलता है जिसके जरिये कोई यूजर ज़ब इन products को खरीदता है तो कमनी कि तरफ से हमें कमीशन कमीशन मिलता है.

इसी तरह ज़ब हम किसी कंपनी के product के बारे लिख कर उसे अपने blog पर publish करते है तो इसे एफिलेट blogging कहते है. 

अब ये किसी एक तरह के product को लेकर भी किया जा सकता है जैसे mobile और अलग अलग तरह के product को लेकर भी किया जा सकता है.. इस तरह कि blogging से लोग बहुत जबरदस्त मुनाफा कमाते है.

एफिलेट ब्लॉगिंग कैसे कि जाती है इसके बारे बाद मे विस्तार से चर्चा करेंगे.

 

Blogging करने का सही तरीका 

आज के टाइम मे blogging मे कम्पिटिशन काफ़ी बढ़ता जा रहा है. तो ऐसे मे कोई भी blog बनाने से पहले उसकी बेसिक जानकारी का होना बहुत जरुरी है.

दूसरी बात blog बनाने का मकसद क्लियर होना चाहिए. Blogging शुरू करने से पहले कुछ तैयारियां  पहले से ही कर के रखनी चाहिए.

  • जैसे अबाउट उस पेज मे क्या रहेगा.
  • Blog का नाम और domain पहले से तय कर लेना चाहिए 
  • Categories के बारे पहले से सोच कर रखना चाहिए
  • 5 से 10 आर्टिकल पहले से लिख कर रखनी चाहिए.

 

Blogging करने के लिए किन चीजों की आवश्यकता होती है? 

 

ब्लॉगिंग करने के लिए आपके पास ब्लॉगिंग की बेसिक जानकारी होनी चाहिए. 

आपके पास एंड्राइड मोबाईल या कंप्यूटर, लेपटॉप होना चाहिए. आपके पास इंटरनेट होना चाहिए. 

आपको लिखने आना चाहिए. आप जिस भी भाषा को अच्छे से लिखना जानते है आप उसी भाषा मे आर्टिकल अपना कन्टेट लिख कर publish कर सकते है.

इसके लिए कोई बहुत बड़ी एजुकेशन एवम डिग्री की आवश्यकता नहीं होती , इसे 10वी कक्षा या 8वी कक्षा तक पढ़ा व्यक्ति भी आसानी से सीख सकता है और कर सकता है.

बस इसके लिए अच्छे प्रशिक्षण कि जरूरत होती है. ताकि आप blogging करने का सही तरीका जान सके.

इसीलिए हमने अपने इस blog पर free blogging course hindi कि शुरुआत कि है ताकि हर कोई आसानी से blogging सीख कर अपने करियर का निर्माण कर सके.

तो चलिए जानते blogging से जुड़ी तमाम जरुरी बातें.

 

Blogging कैसे शुरू करें 

Blogging शुरू करने से पहले आपको अपना एक blog बनाना होगा.

Blogging शुरू करने से पहले आपको बहुत सी चीजे पहले से ही preplain करके रखनी होंगी.ताकी भविष्य मे आपको blogging की ग्रोथ को लेकर परेशानियां ना हो.

जैसे –

  1. Blogging किस भाषा मे करनी है?
  2. Blog किस निच पर बनाना है?
  3. Blogging किस प्लेटफॉर्म पर करनी है?
  4. Blog मे कौन कौन सी केटेगरी रहेंगी?

 

आपको इन सभी चीजों को पहले से ही डिसाइड कर के चलना होगा. ताकि आगे चलकर कोई कन्फयूजन creat ना हो.

 

Blogging करने के लिए सबसे पहले मुझे क्या करना होगा?

चलिए step 2 step समझते है.

Step 1 – Blogging जर्नी शुरू करने से पहले आपको ये चुनाव करना होगा कि आप किस तरह कि blogging करना चाहते हो सिंगल निच blogging या मल्टी निच blogging. क्योंकि यहीं से आपके सफल blogger बनने कि बुनियाफ पक्की होगी.

किस आधार पर किया जाए “blog niche” का चुनाव. किन बातो का रखे ध्यान?

Blogging निच का चुनाव करते समय आपको दो चीजे ध्यान मे रखनी है. 

पहला – जो निच आप select करना चाहते हो उसकी डिमांड कितनी है यानी उस निच पर महीने का कितना ट्रेफिक आरहा है, साथ मे यह बात भी ध्यान मे रखनी है कि अगर मै उस तरह के निच पर blog बनाऊ, तो क्या भविष्य मे वो blog चलेगा.

मतलब आपको ऐसे blog निच का चुनाव करना है जिस पर आप ऐसे कन्टेट डाल सको जो सदाबहार हो, जिस पर लोग हमेशा ट्रेफिक बना रहे. जैसे मोटिवेशन,शायरी, quotes, शिक्षा,टेक्निकल, health, आयुर्वेद, online business कि जानकारी ,आदि तमाम तरह के निच.

Step 2- दूसरा आपको यह भी पता लगाना है कि उस blog निच पर  कितना कम्पिटिशन है.

इसको किवर्ड रिसर्च करना कहते है. 

कीवर्ड रिसर्च कैसे किया जाता है अभी सीखे – जरूर पढे 

बहुत कम कम्पिटिशन वाले निच पर ही blog बनाना सही रहेगा ताकी आप आसानी से अपने blog को ग्रो करवा सको. 

कुल मिलाकर निच select करने से पहले आपको इन दो चीजों पर अच्छे से रिसर्च कर लेनी है.

 

यह कैसे पता लगाया जाता है?

मान लो आप  motivational निच पर आधारित blog बनाना चाहते हो, तो एक motivational blog मे कई तरह के कन्टेट डाले जा सकते है जैसे motivational speech, motivational stories, moral stories, motivational quotes., तो आपको हमेश अपनी निच से जुड़े कीवर्ड पर रिसर्च करना होता है कि उन कीवर्ड पर कितना कम्पिटिशन और search volume है.

 

इसके लिए इंटरनेट पर कई तरह के tool मौजूद है जिनमे से ज़ादातर पेड होते है. लेकिन घबराने कि जरूरत नहीं मै आपको 3 ऐसी वेबसाईट के बारे बताता हूं जहाँ से आप free मे 10 कीवर्ड को search करके देख सकते हो कि उस पर कितना कम्पिटिशन है और कितना मंथली सर्चिंस volume है.सिर्फ यही नहीं से और भी बहुत कुछ देख सकते हो.

  1. Seranking
  2. Seoreviewtools
  3. ubersuggest

 

मै in तीनो का उपयोग करता हूं. 

चलिए मै आपको seranking पर कीवर्ड रिसर्च करके दिखाता हूं.

Seranking पर आप रोज के 10 कीवर्ड रिसर्च कर सकते हो. Ubersuggest मे रोज के सर तीन कीवर्ड रिसर्च कर सकते हो. पर एक बिगिनर के लिए tools best है.

 

सबसे पहले आपको ऊपर लिखें serenking शब्द पर क्लिक करना है क्लिक करते ही आपके सामने ऐसा पेज open होगा. यहां gmail से साइन in कर लेना उसके बाद home पेज पर आकर ज़ब थोड़ा सा नीचे आओगे तो आपको ये कीवर्ड search box दिखाई देगा.

 

यहां पर मै एक कीवर्ड सर्च करता हु “digital marketing”  ये शब्द लिखने के बाद यहां साइड मे कंट्री select कर लेनी है इंडिया.

 

इसके बाद search बटन को दबा देना है.

कुछ ही सेकंड मे process होने के बाद आपके सामने ऐसा दिखा देगा.

 

ये देखिये ये इस कीवर्ड की सारी detail आ चुकी है.

सबसे दिखा रहा है कीवर्ड डिफीकल्टी   इसका मतलब है इस कीवर्ड पर आपने आर्टिकल को rank करवा पाना कितना मुश्किल है. ये दिखा रहा है monthly search volume  और उसके बगल मे है CPC यानी इस आर्टिकल पर दिखाई जाने वाली ad की cpc.

 

Step 3 – अब आपको यह निश्चित करना है की आप

blogging किस भाषा और किस प्लेटफॉर्म पर करना चाहते हो.

Blogging करने के दो प्लेटफार्म है blogger और wordpress.

 

Blogger अच्छा होता है या wordpress?

 

दोनों ही अपने अपने मायने मे सही है.

यदि आप बिगिनर यानी नए हो, आप अभी blogging सीखना चाहते है तो उसके लिए एक दो महीने आप blogger पर blog बना कर blogging सीख सकते है. फिर उसके बाद wordpress पर blog बना कर अपनी blogging जर्नी को आगे बढा सकते है.

Blogger एक free blog मंच है जहाँ आपको wordpress जितने फीचर्स तो नहीं मिलते लेकिन जितने भी फीचर्स होते है उनसे भी आप अपने blog को top rank करवा सकते हो और अच्छी खासी इनकम कमा सकते हो.

 

लेकिन इस पर सफलता पाने के लिए लम्बे समय तक संघर्ष करना पड़ेगा .

 

जरूर पढे – mobile से Free मे blog बना कर पैसे कैसे कमाए – जबरदस्त इनकम 

 

अगर आपके पास बिलकुल भी पैसे नहीं है तो आप blogger का सहारा लेकर blogging कर सकते हो.

 

और यदि आप थोड़ा सा पैसा खर्च सकते हो तो wordpress पर अपनी blogging जर्नी शुरू करें.

 

क्योंकि मैंने अपना blog, blogger पर बनाया था तब मुझे लम्बे वक़्त तक कुछ खास इनपुट नहीं मिला था  फिर ज़ब मैंने अपनी blogging जर्नी wordpress से ही शुरु कि तब मुझे बहुत ही बेहतर रिजल्ट देखने को मिले थे.

बस तब से wordpress पर ही blogging कर रहा हूं और अच्छी खासी इनकम कमाने लगा हूं.

 

यदि आप ब्लॉगिंग मे ज़ादा बेहतर तजुर्बा हासिल करना चाहते हो तो आपको ब्लॉगिंग करने के लिए वर्डप्रेस जैसे प्लेटफॉर्म का रास्ता चुनना होगा जिसकी शुरुआत बस एक छोटी सि लागत से ही हो जाती है.

 

आप अभी से अपने ब्लॉगिंगी जर्नी कि शुरुआत wordpress से ही करें क्योंकि हम यहां पर आपको wordpress blogging से जुड़ी हर छोटी बड़ी जानकारी देते है.

 

यहां पर आपको हम wordpress blogging से जुड़ी हर समस्या का हल भी बताते है इसलिए चिंता करने कि कोई जरूरत नहीं आप बेफिक्र होकर अपने blogging जर्नी कि शुरुआत करें.

 

  • WordPress पर किस किस तरह के फीचर्स होते है?
  • अच्छी और सस्ती hosting कैसे खरीदे?
  • Hosting क्या होती है? Hosting पर WordPress कैसे install किया जाता है?
  • WordPress पर blog कैसे बनाया जाता है?
  • अच्छी थीम कैसे लगाई जाती है?अच्छी wordpress theme कौन सी है?
  • Blogging करने के लिए कम से कम पैसे मे अच्छी hosting और डोमेन कहा से खरीदे.?

इन सब सवालों का जवाब जानने के लिए यहां क्लिक करें.?

दोस्तों इस पर क्लिक करने के बाद आप हमारे free blogging कोर्स के दूसरे भाग मे पहुँच जाओगे.

क्योंकि हमारे free blogging course hindi का दूसरा पार्ट यहीं से शुरू होता है की blogging के लिए किस थीम का चुनाव करें, और इसे full customize कैसे करें. इस भाग मे आपको step 2 step सब समझाया गया है.

चलिए अब अपने इस कोर्स को आगे पढ़ते है. और जानते है की blogging से किन तरीको से पैसे कमाए जा सकते है.

 

दोस्तों blogging से असीमित धन कि प्राप्ति कि जा सकती है यह आपकी मेहनत और क्रिएटिविटी पर निर्भर करता है.

 

चलिए अब जानते है

wordpress blogging से पैसे कमाने के कितने तरीके है?

  • एफिलेट मार्किटिंग के द्वारा
  • गेस्ट पोस्ट के द्वारा 

 

Google adsense गूगल कि ही एक कम्पनी है. यह दुनिया भर कि कम्पनियों से पैसे लेकर उनके products & services को विज्ञापन के रूप मे तरह तरह के प्लेटफॉर्म पर प्रोमोट करती है.

Google adsense  विज्ञापन को blog, youtube, वेबसाईट, mobile एपलिकेशन जैसे प्लेटफॉर्म पर दिखा कर पैसे कमाती है.

ठीक इसी तरह ज़ब हम अपने blog को google एडसेंस के लिए अप्लाय करते है तो वह हमारे blog का निरीक्षण करने के बाद अपनी सहमति देते हुए हमारे blog पर विज्ञापन दिखाने के लिए अपनी मंजूरी देती है.

उनकी सहमति हमें gmail के माध्यम से प्राप्त होती है.

चलिए अब जानते है इससे एक blogger को क्या फायदा..

ज़ब adsense के विज्ञापन blog पर दिखने लगते है तो उससे blogger को पैसे मिलते है. पैसे कितने मिल रहे है ये वो अपने adsense अकाउंट पर देख सकता है.

जितने ज़ादा लोग आपके blog पर दिखाई देने वाले एडसेंस विज्ञापन पर क्लिक करेंगे उतने ही ज़ादा आपको एडसेंस पैसे देगी.

 

  • एक क्लिक पर कितना पैसा मिलता है?
  • Adsense के लिए कैसे और कब अप्लाय करना चाहिए?
  • Adsense को blog से कैसे link किया जाता है?
  • एक क्लिक पर एडसेंस कितने पैसे देते है.?

इन सब सवालों का जवाब विस्तार मे आसान तरीके से समझने के लिए यहां क्लिक करें.

 

Blog से पैसे कमाने का दूसरा तरीका है एफिलेट marketing द्वारा. आप एक एफिलेट blog बना कर अपने blog पर तरह तरह के brand & products कि प्रोमोट करके ज़बरदस्त मुनाफा कमा सकते हो.

जितने ज़ादा products आपके एफिलेट link के द्वारा बिकेंगे उतना ही ज़ादा आप मुनाफा कम सकते है. इससे आप महीने कि लाखों तक कि इनकम आराम से जेनरेट कर सकते है.

इसके लिए आपके blog पर रोज 5 से 10  हज़ार का ट्रेफिक आना चाहिए.

 

Blogging से पैसे कमाने का तीसरा तरीका है गेस्ट पोस्ट.

 गेस्ट पोस्ट का मतलब होता है किसी दूसरे blogger कि पोस्ट को अपने blog पर publish करना.  मान लोग कोई इंसान अपने blog के लिए back link लेने के लिए आपसे कहता है कि आप मेरा लिखा हुआ एक कन्टेट अपने blog पर publish कर दो. मै आपको इसके इतने पैसे दूंगा.

तो इसे कहते है गेस्ट पोस्टिंग.  अगर आपके blog पर अच्छा ट्रेफिक आता है तो आप एक  के लिए अप्लाय कर सकते हो यहां से आपको एप्रूवल मिलने पर यह आपको आपके blog निच से जुड़े कन्टेट दे सकती है जिसे आप अगर अपने पर उनके कन्टेट को publish करोगे तो वो आपको एक कन्टेट publish करने के एक हज़ार से 10 हज़ार रुपए तक दे सकती है.

यह आपके blog ट्रेफिक पर निर्भर करता है.

तो दोस्तों यह थे blogging से पैसे कमाने के 3 अद्भुत तरीके. 

आप इन तीनो तरीको का एक साथ ता फिर अलग अलग उपयोग करके बहुत जबरदस्त इनकम कमा सकते है.

 

Blogging करना और सीखना क्यों जरुरी है? 

हम अपने इस blog पर blogging से जुड़ी हर छोटी बड़ी वो सभी जानकारी मुहैया करवाते रहते है जो आपको एक सफल ब्लॉगर बनने मे मील का पत्थर साबित होती है.दोस्तों ब्लॉगिंग सिर्फ खूब सारे पैसे कमाने का जरिया नहीं है बल्कि एक बहुत बड़ी करियर oppertunity भी है .

 ब्लॉगिंग निच select करने से लेकर hosting खरीदने तक का सफर एक off पेज seo का महत्त्वपूर्ण हिस्सा होता है.

जोकि Off पेज seo,  का ही एक हिस्सा होता है.आप कितना भी बड़ा आर्टिकल लिख दे लेकिन बढ़ते blogging कम्पिटिशन मे बिना seo समझे आप blog को कभी rank नहीं करवा सकते.

इसलिए जरूर समझे –

Seo क्या है कैसे करें?

तो दोस्तों यहीं से आज हमारे free blogging course का पहला भाग खत्म होता है.

Free blogging course भाग -2 👇

👉खुद का blog kaise banaye step 2 step जानकारी –

हमारे Free blogging course के अगले भाग मे आप यह जानोगे की –

  • Blog kaise बनाया जाता है?
  • wordpress क्या होता है?
  • WordPress पर blog बना कर उसे full customize कैसे किया जाता है?
  • Hosting और डोमेन क्या होता है कैसे खरीदा जाता है.

दोस्तों आपको यहां पर blog से जुड़ी हर छोटी बड़ी जानकारी, blog पोस्ट को गूगल पर rank करने की tips और blogging से जुड़ी परेशानियों का हल भी बताया जाता है.

ताकी आपको कहीं और जाने की आवश्यकता ना पड़े सब जानकारियां एक ही जगह से प्राप्त हो जाए.

इसलिए बने रहिये हमारे blog पर.

हम अपने इस blog पर बहुत सारे business ideas भी शेयर करते है.जिनकी मदद से आप अच्छा सा व्यापार करके बहुत अच्छी इनकम कमा सकते हो.

 

इन्हे भी पढे –

WordPress Blog कैसे बनाया जाता है 

blogger पर adsense approval लेने का process

1 thought on “Blog kya hai | Blogging kaise kare best तरीका”

Leave a Comment