Off page seo क्या है? Article rank करेगा 100%

नमस्कार दोस्तों स्वागत है free blogging course hindi मे आज हम जानेंगे Off page seo क्या है? कैसे किया जाता है? Off page seo का ranking फैक्टर मे कितना बड़ा रोल होता है.

बहुत सारे ब्लॉगर्स ऐसे होते है जिन्हे off page seo की ठीक से जानकारी नहीं होती, और कुछ ब्लॉगर्स ऐसे भी है जो सही तरीका नहीं जानते और गलत तरीके से off page seo करने की वजह से उनका blog और blog post कभी रैंक नहीं हो पा रहा होता.

अभी 2021 चल रहा है,मै पिछले 5 सालों से blogging कर रहा हूं. मैंने off page seo की मदद से अपनी बहुत सारी blog post को गूगल पर रैंक करवाया है.

आप चाहे तो ये कीवर्ड गूगल पर सर्च करके देख सकते हो.

On page seo kaise kare 

ये कीवर्ड है ये 👉

Success stories hindi

Hindi love stories

Religious stories hindi

Buddha moral story hindi

Dharmik kahaniya

Elon musk success story hindi

Moral stories hindi

Short moral stories hindi

 

इन कीवर्ड पर मेरी कुछ post पहले रैंक पर है और कुछ तीसरे, पांचवे और 8वे नंबर पर रैंक हो रही है. इस वजह मेरे blog पर अच्छा ऑर्गेनिक ट्रेफिक बढ़ने लगा है.

Off-page-seo

यकीन मानो, अगर आपने on page seo के साथ अच्छे से  off page seo करनी सीख ली तो आपके blog को top रैंक पर आने से कोई नहीं रोक सकता. 

Off-page-seo

Blog को गूगल पर रैंक करवाने के लिए On page seo के बाद off page seo का ही नंबर आता है. 

 

तो चलिए जानते है, off page seo क्या है और off page seo कैसे किया जाता है.

 

Off page seo क्या है?

Off page search engine optimization. यानी ज़ब हम अपने blog (blog post और pages) से हटकर blog post & pages को google पर रैंक करवाने के लिए बाहरी (externally) तरफ से जो भी optimization करते है, उसे off page seo कहा जाता है.

जैसे – keyword research , domain submission , google Indexing, 

 

Off page seo कैसे किया जाता है?

Off page seo करने के 6 process है.

Off Page SEO process 

  1. Select niche 
  2. Buy domain & Hosting
  3. Generate sitemap
  4. Domain submission
  5. Google Indexing 
  6. Link blog on google analytics
  7. Web mention technique 

 

blog niche क्या है :- 

Blog Niche का मतलब होता है की आप किस तरह के टॉपिक पर blog बनाना चाहते हो .

Blog Niche दो तरह के होते पहला, single niche blog और दूसरा multi niche blog.

सिंगल nich blog पर सिर्फ एक ही मेन टॉपिक से जुड़े आर्टिकल लिखें जाते है जैसे हेल्थ  ,  सरकारी योजनाएँ,  agriculture,

वहीं दूसरी तरफ मल्टी niche blog पर आप कइबलग अलग तरह के टॉपिक पर आर्टिकल लिख कर publish कर सकते है. 

किस तरह के blog nish पर काम करें :- 

यदि आप एक से अधिक क्षेत्रों मे जैसे history, science, mathe, टेक्नोलॉजी, बिज़नेस की अच्छी जानकारी रखते हो तो आपको मल्टी nich blog पर blogging करनी चाहिए.

और यदि आप की एक ही विषय पर अच्छी जानकारी दे सकते हो तो आपको सिंगल niche blog पर blogging करनी चाहिए.

अब ये आपको select करना है की कौन से niche blog पर काम करना ज़ादा सही रहेगा.

अब off page seo का रोल यहां पर ये है की ज़ब आप कोई भी niche blog का चुनाव कर रहे होते है तो आपको यह बात ध्यान मे रखनी है की  जिन keywords पर मै आर्टिकल लिखूंगा उनकी वर्तमान और भविष्य मे कितनी डिमांड रहने वाली है.

जिससे भविष्य मे आपके आर्टिकल गूगल पर rank और ट्रेंड कर सके.

Off page seo step 2 – Buy Domain & hosting plan 

ज़ब आप wardpress पर  blogging करने के मकसद से कोई डोमेन और होस्टिंग खरीदते हो तो वहीं से ही आपकी off page seo का दूसरा स्टेप शुरू हो जाता है.

यानी एक अच्छे डोमेन और होस्टिंग प्लान का चुनाव कर उसे अच्छी कम्पनी से खरीदना off page seo का महत्वपूर्ण हिस्सा है.

जितनी अच्छा आपका होस्टिंग प्लान होगा आपके वेबसाईट एवं blog की स्पीड भी उतनी अच्छी होगी और उतनी ही अच्छी आपको होस्टिंग सर्विसस भी मिलेगी.

नए bloggers के लिए सस्ता और अच्छा hosting plan कौन सा है और कहाँ से मिलेगा? जानने के लिए क्लिक करें 

Best hosting plan for beginner hindi 

पूरी तरह से blog तैयार हो जाने के बाद अब off page seo का अगला स्टेप होता है अपने blog अथवा वेबसाईट का साईट मैप सबमिट करना.

जरूर पढे – xml sitemap क्या है और यह कैसे जनरेट किया जाता है.

Sitemap submit क्यों किया जाता है?

दोस्तों, हमने किस डोमेन से blog बनाया है, हमारा blog किस टॉपिक पर है, हमारे blog पर कौन कौन सी केटेगरी है, हम किस topics पर आर्टिकल publish कर रहे है यह सब कुछ google को बताने के लिए XML Sitemap को google से जोड़ा जाता है.

ऐसा करने से आपके blog का कुछ डाटा google search console से सिंक हो जाता है. जिस वजह से आप ज़ब भी कोई नया blog post publish करते हो तो उसका url अपने आप ही यहां index हो जाएंगे.

जिससे गूगल bots को आपके blog के update होने की सुचना मिलती रहेगी इससे google के क्राउलर आपकी वेबसाईट और कन्टेट को आसानी से क्रोल कर सकेंगे.

इसी मकसद के साथ Blog अथवा वेबसाईट के Sitemap को google search console मे submit किया जाता है.

Sitemap को कैसे generate करना है और कैसे search console से लिंक किया जाता है. स्टेप 2 स्टेप = जरूर पढे. Google search console क्या है 

 

Domain submission क्या है?

Google जैसे और भी तमाम search इंजन को यह बताने के लिए की आपका डोमेन भी इस दुनिया मे मौजूद है इस मकसद से domain को bing वेबमास्टर tool और google search console पर submit कर दिया जाता है.

Submit करने के 24 घंटे बाद ज़ब आप अपना डोमेन नाम गूगल पर search करोगे तो वो search रिजल्ट पर दिखाई देने लगेगा.

इस तरह कोई भी आपका डोमेन एवं blog का नाम search करके आपके blog तक पहुंच सकता है.

 

Google indexing क्या है?

ज़ब आप manuali, तरीके से अपने blog के हर page को google search console पर index करते है तो इसी को google indexing कहा जाता है.

ऐसा करने से ज़ब गूगल आपके blog को क्रॉल करेगा तो वह उसे search रिजल्ट मे दिखाएगा. 

 

Google analytics क्या है?

अपने blog और वेबसाईट को google analytics मे रजिस्टर अवश्य करे.

Google analytics एक ऐसा प्लेटफार्म है जहाँ आप real time ये देख सकते है की कितने विजिटर आपके blog पर आ रहे है.

विजिटर यानी ट्रेफिक कहा से और किस प्लेटफॉर्म से आरहा है.

वह आपके किस पेज अथवा blog post को देख रहा है.

इससे आप यह भी देख सकते हो की आपके किन post पर ज़ादा ट्रेफिक आता है.

 

इसके क्या फायदे हो सकते है.

  • इससे आप यूजर एक्सपीरियंस बढाने के लिए उस post मे और ज़ादा सुधार कर सकते है.
  • इससे आप ये idea लगा पाएंगे और visualiz कर पाएंगे की अपनी blog post मे वैल्यू अडीशन करके उसे और ज़ादा बेहतर कैसे बना सकते है.
  • हमें किस तरह के टॉपिक और कीवर्ड पर blog post लिखने चाहिए.

 

Guest post क्या है?

दोस्तों ज़ब हम अपने blog nich जैसे ही किसी दूसरे blog पर जाकर अपने blog nich से सम्बंधित आर्टिकल लिख कर submit करते है. तो ज़ब वो आपके द्वारा सबमिट किये हुए आर्टिकल को अपने blog पर publish कर देगा तो इससे आपके उस आर्टिकल के माध्यम से आपके blog को एक बैक लिंक मिल जाएगा.इसी को guest Post कहा जाता है.

Guest post करने का मेन मकसद high quality back link बनाना होता है ताकी domain authority को बढाया जा सके.

ध्यान रहे आप अपने blog और आर्टिकल के लिए जो बैक लिंक ले रहे है उसकी अथॉरिटी high होनी चाहिए. और आपको high authority बैक लिंक तभी प्राप्त होगा ज़ब आप किसी high authority वाले blog पर gest post करोगे.

जिस blog की DA – PA high और अलेक्सा रैंकिंग अच्छी होती है वहीं blog एक High authority blog कहलाता है. ऐसी जगह से ज़ब हमें कोई back link प्राप्त होता है तो उसे high quality एवं high authority back link कहा जाता है.

जितनी ज़ादा मात्रा मे आपके blog अथवा blog post की high authority बैक लिंक होंगी उतनी ही ज़ादा आपका वह पेज गूगल पर rank करेगा.

क्योंकि गूगल high authority वाले backlink वाले pages और blog post को अधिक प्राथमिकता देता है. 

DA – PA क्या होता है? कितना जरुरी है?जरूर पढे

 

Web mention technique 

अपने blog क़ी domain authority बढाने के लिये सबसे best technique है web mention.

Digitaly और non digitali तरीके से audiance को ऐसी जानकारी देना जिससे वो आपके domain के महत्व को समझ कर उसे खुद से search ingine मे search करके आप तक पहुँच सके. इसी को web mention technique कहा जाता है.

जानिये क्या है 👉 Web mention करने का सही तरीका

Off page seo FAQ

निष्कर्ष 

तो दोस्तो आज हमने सीखा की off page seo क्या है ? off page seo कैसे किया जाता है ?  ऊमीद करता हूँ आप आज off page seo hindi  के अच्छे से समझ गए होंगे | दोस्तो यदि आपको ब्लॉग से संबन्धित कोई बात समझ नहीं आरही तो आप कमेन्ट करके जरूर पूछे हमारी त्तिम जल्द से जल्द आपकी समस्या का समाधान निकालने का प्रयास करेगी | 

हमारा हमेशा से यही प्रयास रहता है की हम आप तक blogging या फिर किसी भी तकनीकी जानकारी को आसान  भाषा मे आप तक पाहुचते रहे ताकि आप आसानी से और कम समय मे जानकारी प्राप्त कर सके |

इन्हे भी पढ़े – 

Blog Seo kaise kare

Top 5 blogging nish ideas

Ezoic से blog earning को करें 10 गुना 

blog traffic क्या होता है? 

एक real time मे ज़ब लोग आपके blog तक डायरेक्टली या इंडायरेक्टली रूप से आते है यानी कितने लोग 24 घंटे मे आपके blog पर पहुचे.तो वो वही लोगो का हुजूम blog traffic कहलाता है.
 

organic traffic क्या है?

ज़ब कोई traffic google search के माध्यम से आपके blog तक पहुँचता है तो वह organic traffic कहलाता है.

अपने blog का live traffic कैसे देखे?

google analytics के माध्यम से आप अपने blog का traffic live देख सकते हो.

google analytics से हम क्या क्या देख सकते है?

google analytics की मदद से आप अपने blog पर ना सिर्फ live traffic बल्कि यह भी देख सकते हो की traffic कहाँ से और किस राज्य अथवा देश से आरहा है. यह भी देख सकते हो की कितने लोग आपके blog पर live है, और किस आर्टिकल को रीड कर रहे है.किन किन आर्टिकल पर कितना traffic आरहा यह भी देख सकते हो.कितना Traffic आर्गेनिक आरहा और कितना social media से यह भी देखा जा सकता है.

Leave a Comment