मुर्गी पालन व्यवसाय को poultry farming एवं poultry farm business के रूप मे जाना जाता है.यह agriculture का ही एक हिस्सा है.

Poultry farm business idea एक सबसे ज़ादा return देने वाले business मे से एक बन चुका है.

आज के time मे मुर्गी पालन एक सफल व्यवसाय के रूप मे उभर रहा है। भारत मे बढ़ती अंडो व चिकन क़ी demand से मुर्गी पालन का यह व्यवसाय बहुत अच्छा profit देने वाला सफलतम व्यवसाय बन चुका है.

शहर हों या गांव किसी भी जगह पर छोटे स्तर से poultry farm व्यवसाय को शुरू करके अच्छी आमदनी कमाई जा सकती है.

Poultry farm शुरू करने से पहले आप किसी बड़े poultry farm मे प्रशिक्षण (training) अवश्य लें.उसके बाद ही आप इस व्यवसाय को शुरू करें.

एक poultry farm के size पर ही उसकी लागत निर्भर करती है.जालियां, लोहे के एंगल, सीमेंटेड स्तम्भ, सरिया, शेड, वायरिंग, लाइटिंग setup और लेबर खर्च. शामिल होते है.

यदि आप 500 क़ी मुर्गीयों क़ी क्षमता वाला structure तैयार कर रहे हों तो 80 से 90 हज़ार रुपए का खर्च आएगा. इस पर नाबार्ड की मदद से 50%की सब्सिडि भी मिलती है 

मुर्गी पालन व्यवसाय शुरू करने के लिये आप अपने नज़दीकी किसी भी हेचरी, या फिर क़ृषि विज्ञानं संस्थान से प्रशिक्षण ले सकते हों.

लेयर मुर्गी फार्म व्यवसाय मे सिर्फ अंडा उत्पादन करके और उन्हें भारी मात्रा मे बाज़ार क़ीमत तथा थोक क़ीमत पर बेच कर भारी मुनाफा उठाया जाता है.

तो चलिये नीचे बटन पर क्लिक करके जानते है की चूजे खरीदने मे कुल खर्च कितना आएगा स्ट्रक्चर तैयार करने मे कुल खर्च कितना आएगा कितनी और कैसे मिलेगी सब्सिडि ?