Xml sitemap kya hai | sitemap kaise submit kare

आज हम जानेंगे क़ी sitemap kya hai Xml sitemap kaise submit kare | xml sitemap कैसे और क्यों जनरेट किया जाता है? sitemap html | sitemap generator tool 

किसी भी blog या वेबसाईट के लिए sitemap का होना बहुत जरुरी होता है.

Sitemap क्या है?

किसी भी blog या वेबसाईट का Sitemap  पूरे blog एवं वेबसाईट pages की वो लिस्ट होतीं है जिनकी बदौलत search engine के bots आसानी से आपके blog post & pages को crawl कर पाते है.

Sitemap के आधार पर ही search engines को, आपके blog एवं वर्बासाईट पर होने वाले optimisation & updates सम्बन्धी सूचनाए प्राप्त हो पाती है.

तो अब यह तो आप समझ गए की sitemap क्या होता है चलिए अब हम जानते है की XML sitemap क्या होता है? और यह कैसे काम करता है?

Sitemap कितनी प्रकार के होते है?

Sitemap 4 प्रकार के होते है

    1. XML sitemap
  • HTML sitemap

XML sitemap क्या है?

XML sitemap मे XML का अर्थ है extensible markup language. अब इसका मेन काम ये होता है की ये blog & वेबसाईट के post & pages के डाटा को अपनी ही एक language मे कन्वर्ट करके स्टोर कर लेता है यह language कुछ इस तरह से डिजाइन होती है जिसे search engine के लिए समझना बहुत आसान हो जाता है फिर sitemap के माध्यम से यह सारा डाटा समय समय पर एक सूचना के तौर पर search engine तक पहुँचता रहता है.

इसी पूरे process को XML sitemap कहा जाता है

डाटा के अंदर – text, ऑडियो, video, image, pdf होता है.

XML sitemap blog and website का एक ऐसा रोड मैप होता है जिसकी वजह से search engine आसानी से हमारे हर blog post & pages तक अपनी पहुँच बना पाता है यानी उन्हें क्रॉल एवं search कर पाता है.

XML भाषा का निर्माण search engine के लिए किया गया.

XML sitemap कैसे काम करता है.

ज़ब भी आप अपने blog & वेबसाईट पर कोई नई post publish करते हो, या पुरानी post को update करते हो तो XML sitemap की वजह से इसकी सूचना search engine प्राप्त कर लेता है.

Sitemap की वजह से blog के सभी नए पुराने post & pages google search console पर आपने आप ही index होते रहते है.

XML sitemap किस तरह से दिखाई देता है?

XML sitemap का sample कोड कुछ इस तरह से होता है.

<?xml version=”1.0″ encoding=”UTF-8″?>

<urlset xmlns=”http://www.sitemaps.org/schemas/sitemap/0.9″>

   <url>

      <loc>http://www.example.com/</loc>

      <lastmod>2005-01-01</lastmod>

      <changefreq>monthly</changefreq>

      <priority>0.8</priority>

   </url>

</urlset>

 

यदि कोई दिक्क़त आए तो आप मेरी ये video देख कर समझ सकते हों


चलिए अब जानते है xml sitemap कितने प्रकार के होते है?

XML sitemap के कितने प्रकार होते है?

types of xml sitemap hindi?

  1. Post sitemap – इसमें आपके सभी आर्टिकल के अलग अलग sitemap होते है.
  2. Images sitemap – इस sitemap से आप image कि लोकेशन url डाल सकते है.
  3. Video sitemap  – इस sitemap के माध्यम से आपके वेबसाइट पर मौजूद videos को रखा जाता है.
  4. Page sitemap – इसमें आपके वेबसाइट के सभी pages मौजूद होते है .जैसे की about us का पेज contact us, privacy policy का पेज 
  5. Category sitemap – blog & website पर मौजूद हर केटेगरी जैसे health, मोटिवेशन, tech, knowledge, festivals इत्यादि इन सब के xml sitemap भी बनाए जा सकते है. ताकि search engine आपके केटेगरी को भी crawl कर सके.

अभी तक हमने जो भी जाना उससे ये साफ होता है कि XML sitemap के माध्यम से search engine (google) हमारे blog structure को समझ कर blog के हर post & pages को crawle कर पाता है.

लेकिन ये तभी हो पाएगा ज़ब google search engine को हमारे XML sitemap के बारे पता होगा.

इसके लिए blog & वेबसाईट के मेन XML sitemap को एक बार google search consol मे submit करवाना पड़ता है.

एक बार सफलतापूर्वक xml sitemap google search console पर submit हो जाने पर आपके blog & website के सभी post & pages का xml sitemap अपने आप ही बनकर index हो जाता है. फिर भविष्य मे भी अगर आप अपने blog पर कोई new post publish करते हो to उसका xml sitemap अपने ही google search console पर index हो जाएगा.

तो चलिए स्टेप to step जानते है.

Xml sitemap से पहले आपका blog google search console पर पहले से link हुआ होना चाहिए.

फिर ज़ब आप अपने google search console पर जाओगे तो वहाँ आपके सामने ये सभी option दिखाई दे रही होंगी.

अब यहां आपको नीचे sitemap ऑप्शन पर क्लिक करना है. क्लिक करते ही आपके सामने ऐसा पेज open हो जाएगा.

अब यहां पर आपको ऐसा लिखना है –

Sitemap_index.xml   

इसके बाद आपको submit बटन पर क्लिक कर देना है. तुरंत ही आपका sitemap सफलतापूर्वक submit हो जाएगा. जो क़ी कुछ इस तरीके से दिखाई देगा ग्रीन कलर मे success लिखा हुआ दिखाई देगा.

Xml-sitemap

24 घंटे मे google का क्रॉलर आपके blog पर मौजूद सभी pages को क्रोल करके index करना शुरू कर देगा जो publish किये गए है.

यानी ज़ब 24घंटे बाद आप दोबारा इस पेज पर आओगे तो आपके total blog post and pages index हुए दिखेंगे. जैसे ऊपर इमेज मे मेरे दिखाई दें रहे है sitemap के रूप मे total index pages = 30

यदि आपने अपने blogger वाले blog के लिए xml sitemap cod जनरेट करना चाहते हो तो नीचे दिए link पर क्लिक करें.

https://www.labnol.org/blogger/sitemap/

 क्लिक करने के बाद आपके सामने एक पैक open होगा यहां पर इस खाली box मे अपने blog के home पेज का url डालना है.और एंटर कर देना. फिर आपके blog का xml sitemap कोड जनरेट होना शुरू हों जाएगा.

ठीक इसी तरह wordpress blog के लिए xml sitemap कोड जनरेट करने के लिए इस link पर क्लिक करें.

https://www.xml-sitemaps.com/

यहां भी सेम उसी तरीके से अपने blog के home पेज का url डाल कर एंटर करें. फिर आपके blog का xml sitemap कोड जनरेट हो जाएगा.

आप sitemap generator tool कि मदद से दोनों के लिए sem तरीके से XML sitemap generate कर सकते है.

HTML sitemap क्या है?

जिस तरह XML sitemap search engine crawler के लिए फायदेमंद होता है ठीक वैसे ही HTML sitemap blog & वेबसाईट पर visitors को पार्टिकूलर लोकेशन तक पहुँचने मे मदद करता है.

यानी HTML sitemap विजिटर को blog & website को structure समझने मे मदद करता है.

HTML का मतलब है hyper text markup language. Blog & वेबसाईट के हर पेज पर मौजूद नेवीगेशन कि मदद से विजिटर आसानी अपने मनचाहे post & पेज तक पहुँचता है. यह सब HTML sitemap कि वजह से सम्भव हो पाता है.

उदाहरण के लिए home पेज पर सभी categories & post के url जुड़े होते है जिस वजह से विजिटर आपके blog के अंदर एक ही क्लिक पर अपनी मनचाही जगह तक पहुंच जाता है.

उम्मीद करता हु आज क़ी जानकारी xml sitemap kaise submit kare बहुत usefull साबित हुई होगी.

आज हमने सिखा – sitemap क्या होता है |blogger और wordpress जै लिये xml sitemap कैसे generate किया जाता है | google search console मे sitemap kaise submit kita jata hai?

हम अपने blog पर blog and seo से जुड़ी ऐसी ही तमाम जानकारियां लाते रहते है जो बहुत ही usefull होती है. हमसे जुड़े रहे और नई नई update जानकारियों का फायदा उठाते रहे.

इन्हे भी जरूर पढे –

Mobile से free blog कैसे बनाए

Web mention kya hai 

Web story कैसे बनाया जाता है 

SEO करने का सही तरीका

blog ko google searchconsole se kaise jode

Leave a Comment